Home टॉप सवाल भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है, हालात के पीछे...

भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है, हालात के पीछे की पूरी सच्चाई.

भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है, हालात के पीछे की पूरी सच्चाई.

पेट्रोल डीजल की कीमत आज आसमान छु रही हे लेकिन क्यों इसके पीछे की सच्चाई क्या हे,आज के दिन में हमारे पासके पेट्रोल पंप पर पेट्रोल का दाम 83.74 हे और डिसिल का दाम 72.69 हे.

कभी ये सोचा हे की ये पेट्रोल का रेट बनता केसे हे बढ़ता केसे हे और अगर बढ़ जाये तोह जल्दी कम क्यों नही होता.

सबसे पहले समजते हे की ये पेट्रोल डीसेल बनता केसे हे और इसे बनाने में कितने पेसे लगते हे.

पेट्रोल डीसेल हम भारत में हम नही बना सकते हमे क्रूड ऑइल (crud oil) बाहर से खरीदना पड़ता हे, तब हम पेट्रोल डीसेल बना सकते हे. 80% क्रूड ऑइल हम बाहर से इम्पोर्ट ( import ) करते हे. और ये ऑइल बैरल ( barrel ) में आता हे.

पेट्रोल डीजल की कीमत

भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है

एक बैरल में 159 लीटर क्रूड ऑइल आता हे. और एक बैरल का रेट आज की तारिक में चल रहा हे 86.73 $ ( USD ) और इस ऑइल को रीफाइंड ( Refind ) करने के बाद पेट्रोल और डीसेल मिलता हे. डीलर को 1 लीटर पेट्रोल रीफाइंड करने के लिए लगभग 38 से 40 रूपये लगते हे,

40 रूपये का पेट्रोल आपके पास आते आते 83 रूपये का हो जाता हे क्यों की इसके ऊपर लगते हे टैक्सेज ( Taxes ).

पेट्रोल डीजल की कीमत

तो सबसे पहला टैक्स लगाती हे हमारी सेंट्रल Governoment ( सरकार ) जिसका नाम हे excise duty उत्पाद शुल्क ) जो 19.48 रूपए के आसपास लगता हे. हर लीटर पे. जितना आप पेट्रोल डालोगे अपनी गाड़ी में. हर लीटर का 19 से 20 रूपए सेंट्रल Governoment को जा रहा हे. इसके बाद पेट्रोल हे जो और बढ गया.

और इसके बाद आप जहा से पेट्रोल भरवाते हो उस डीलर का मार्जिन ( margin ) 3 से 4 रूपए पर लीटर.

अब इसके बाद हर राज्य में जायेगा पेट्रोल और हर राज्य ने पेसे कमाने के लिए और टैक्सेज लगाये जेसे की में maharastra में रहता हु तो यहाँ पर 25 % VAT लगता हे पेट्रोल पर. यसे करते करते 40 रूपये का पेट्रोल 80 रूपए का हो जाता हे.

भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है, हालात के पीछे की पूरी सच्चाई.

लेकिन समस्या तो अब शुरू हुई हे. क्यों की  2012 और 2013 में क्रूड ऑइल जो की 118$ बैरल का मिलता था, अभी तो ये सिर्फ 80$ बैरल का मिलता हे, हुआ ये की जब क्रूड ऑइल ज्यादा था तब सब exise duty, VAT ये टैक्सेज बोहोत कम थे.

जब 2014 क्रूड ऑइल का दाम कम हुआ तब Governoment अपने टैक्सेज बढाने लगी. तब हमे एक ही दाम पे पेट्रोल मिलता था.

 अब जब क्रुड ऑइल का दाम बढ़ रहा हे तब Governoment टैक्सेज कम नही कर रही क्यों की जब की किसी चीज पर टैक्स बढता हे तो वोह आसानी से कम नही होता हे.

इसीलिए पेट्रोल डीसेल महंगा होता जा रहा हे.

तो दिक्कत यही आ रही की क्रूड ऑइल का दाम बढ़ गया लेकिन टैक्स कम नही हो रहा हे.

2014 – 2015 में सरकार को 99184 करोड़ का फायदा हुआ था सेंट्रल Governoment को इस टैक्स से.

लेकिन जब क्रूड ऑइल का दाम कम हुआ 2016 – 2017 में तब सरकार को

242691 करोड़ का फायदा हुआ Exise Duty टैक्स से सेंट्रल Governoment को

जब इनको ज्यादा फायदा हुआ तोह ये अब पेट्रोल का दाम कम कर सकते हे.

लेकिन ये कम कर नही रहे हे क्यों की अगर एक रुपया भी पेट्रोल का टैक्स कम हुआ

तो सरकार को 13000 करोड़ का नुकसान हो जायेगा अब यहाँ पे सरकार फस गयी हे.

तो इसी वजह से भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत ज्यादा है.

भारत में पेट्रोल डीजल की कीमत क्यों ज्यादा है, हालात के पीछे की पूरी सच्चाई.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.